RAM क्या है? What is RAM in Hindi

हेलो दोस्तों आपका मेरे blog GrabPC.com पर बहुत-बहुत स्वागत है आज हम जानेंगे कि RAM kya hai और यह काम कैसे करती है आपके मन में कई बार यह ख्याल आया होगा कि Computer RAM …

ram-kya-hai
ram-kya-hai

हेलो दोस्तों आपका मेरे blog GrabPC.com पर बहुत-बहुत स्वागत है आज हम जानेंगे कि RAM kya hai और यह काम कैसे करती है आपके मन में कई बार यह ख्याल आया होगा कि Computer RAM kya hai आपने कई बार देखा होगा की जब भी आप Computer या Mobile का Use करते हैं तो वह अधिक Usage करने के बाद स्लो हो जाता है इसका main कारण RAM हो सकती है

क्योंकि RAM पर ही आपके सारे data को Access किया जाता है यह भी एक तरह की Computer Memory होती है लेकिन यह  Hard Disc या SSD से अलग होती है जोकि आप अधिक data को store करने के लिए Use करते हैं ram एक Primary Memory होती है जिसका Man use आपके Apps & Software को Run करना होता है नाक की store करना। 

RAM kya hai? What is ram in hindi 

RAM जो कि एक Volatile Memory है RAM का Full form random access memory है इसे Volatile Memory इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह आपके डाटा को Temporary Store करती है यानी जब आप अपने PC or Laptop को off कर देते हैं तो इसमें रखा सारा डाटा डिलीट हो जाता है

यह तभी तक Use में आता है जब तक की इसमें Electric Power मिलती रहे RAM को प्राइमरी मेमोरी भी कहा जाता है क्योंकि यह आपके processor से Direct communication करती है इसलिए इसे Primary Memory कहा जाता है RAM Semiconductor and Flip Flop Technology द्वारा बनाई गई memory है जो कि काफी Fast memory होती है

RAM आपकी Normal memory जैसे Hard disk, SSD, pen drive and SD card से ज्यादा Fast होती है।

Way RAM Volatile Memory है? (Why Ram is Called Volatile Memory) 

“Volatile Memory” एक तरह की मेमोरी होती है जिसमें data को तब तक store किया जा सकता है जब तक कि उसका Power Supply चालू है। जब power supply बंद हो जाता है, तो उस मेमोरी में Store Data भी Delete हो जाता है। इसलिये इसे Volatile Memory या “Fugitive Memory” भी कहा जाता है। 

रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) भी Volatile Memory का एक प्रकार है क्योंकि जब कंप्यूटर की पावर सप्लाई बंद होती है, तो RAM Memory में Store Data भी Delete हो जाता है।  यहां इसलिए होता है क्योंकि RAM सेमीकंडक्टर टेक्नोलॉजी को Use करता है जिसमें पावर की आवश्यकता होती है बिना Power की या मेमोरी कोई भी डाटा को स्टोर नहीं कर सकती है।  

इसके विपरीत, “Non-Volatile Memory” जैसे कि हार्ड डिस्क ड्राइव्स (HDD) और सॉलिड स्टेट ड्राइव्स (SSD) डेटा को स्थायी रूप से store करते हैं, और पावर सप्लाई बंद होने पर भी उनमें स्टोर किया गया डेटा बना रहता है इन्हें Secondary Memory कहा जाता है।

READ ALSO

Ram कितने प्रकार की होती है? 

आमतौर पर RAM दो प्रकार की होती हैं SRAM और DRAM इन दोनों की जानकारी नीचे दी हुई है. 

SRAM 

SRAM का Full Form Static Random Access Memory है इसमें भी बाकी रैम की तरह device बंद हो जाने पर Data Erase हो जाता है इसका यूज डाटा को बहुत Fast speed में उपयोग में लाने के लिए किया जाता है इसे हम Cache Memory के नाम से भी जानते हैं SRAM DRAM से ज्यादा फास्ट और Expensive होती है यह Flip Flop Technology से बनी होती है इसलिए यह कम Refresh होती है और ज्यादा Speed देती है।  

DRAM 

DRAM का Full Form Dynamic Random Access Memory है यह SRAM के मुकाबले data को reed करने में थोड़ी Slow होती है इसके लिए इसे ज्यादा बार Refresh होना पड़ता है ताकि इस में रखा Data destroyed ना हो जाए SRAM के मुकाबले cheap होती है और Most devices में DRAM उपयोग की जाती है।

What is RAM and ROM in Hindi? 

RAM and ROM में अंतर जाने के लिए आप नीचे रहे Points को पढ़कर जान सकते हैं कि इनमे क्या difference है. 

RAMROM
RAM एक Volatile Memory है इसमें डाटा को Temporary Store किया जाता है यानी  पावर कट हो जाने पर इसका Delete data हो जाता है।  ROM में एक बार Data Write करने पर इसे दोबारा आसानी से change नहीं किया जा सकता इसका उपयोग हार्डवेयर को प्रोग्राम करने और उपयोग में लाने के लिए किया जाता है इसमें data एक बार स्टोर करने पर Power off हो जाने पर भी Delete data नहीं होता है।  
RAM का उपयोग Apps & Software को RUN करने के लिए उपयोग में लाया जाता है।  ROM में Existing apps, documents, files unlimited time के लिए store करने के उपयोग में लाया जाता है।  
RAM मैं डाटा को Fast तरीके से access किया जा सकता है।  वहीं ROM मैं डाटा को RUN करने की तुलना में  फास्ट तरीके से Access नहीं किया जा सकता है।  
RAM में आप Gigabyte में data को store कर सकते हैं।  वही ROM में आप Megabite में ही data को Store कर सकते हैं।  
RAM को हम खुद आसानी से change कर सकते हैं।  वही ROM को आप खुद change नहीं कर सकते यह manufacture द्वारा ही change की जा सकती है।  

अगर आप जानना चाहते है Rom kya hai Read this Article

Advantage and Disadvantage of Ram. 

रैम (Random Access Memory) के लाभ और हानियाँ हिंदी में: 

लाभ (Advantages) – 

  1. Speed : RAM Data और Programs को Fast access करने की क्षमता प्रदान करती है, जिससे Computer Tasks को तेजी से और Effective methods से कर सकता है। 
  2. Multitasks: RAM की help से Computer एक साथ Many active processes and programs को संभाल सकता है, जैसे कि Multitasking के दौरान होता है। 
  3. capacity : Computer के RAM को बढ़ाने से उसकी क्षमता में वृद्धि होती है, जिससे Large and complex programs को support मिलता है और वह आसानी से Run करते है। 
  4. Testing and Debugging : RAM का उपयोग New software or programs को Testing या Debugging करने के लिए किया जा सकता है, जिससे system पर कोई Negative impact नहीं पड़ता। 

हानियाँ (Disadvantages) – 

  1. Volatile nature : RAM Volatile Memory होती है, अर्थात् Power off होने पर उसमें स्टोर किया गया डेटा हमेशा के लिए मिट जाता है। 
  2. Lack of permanent memory  RAM केवल Temporary storage प्रदान करती है, इसलिए Specific data को Long Time के लिए store करने में यह Storage useful नहीं होती है। 
  3. Limited memory : RAM capacity limited होती है, और यदि More memory की आवश्यकता होती है, तो system को New RAM की आवश्यकता होती है। 
  4. Physical Storage Required : RAM को system में installed करने के लिए Prime Location की आवश्यकता होती है, जिससे कि यह सिस्टम  के साथ सुचारू रूप में काम कर सके। 
  5. Cost : More RAM खरीदने के लिए more पैसे खर्च करने की आवश्यकता हो सकती है, जो सिस्टम की कीमत को बढ़ा सकती है। 

Ram से Related FAQ.  

Qus. क्या RAM कंप्यूटर की Speed बढ़ाती है? 

Ans. हां RAM कंप्यूटर की Speed बढ़ती है क्योंकि ज्यादा Computer RAM होने पर आप ज्यादा program को एक साथ Run कर सकते हैं और आपका Computer Hang भी नहीं होगा इसलिए ज्यादा रैम कंप्यूटर की स्पीड बढ़ा देती है। 

Qus. Computer RAM kya hai In Hindi. 

Ans. जैसे आप Mobile & Laptop में RAM Usage करते हैं उसी तरह कंप्यूटर में भी Ram use होती है रैम कई प्रकार से Devices में आती है जैसे Mobile के motherboard में in-built आती है Laptop में Ram का Small size आता है और Computer में Ram का Full size आता है yaha सब एक ही तरह से काम करती और इनकी size में Difference होता है।  

Qus. क्या हम RAM को खुद change कर सकते हैं? 

Ans.  अगर आपकी device में Ram Removel है जैसा कि Laptops & PCs में होता है तो आप आराम से इसे change कर सकते हैं पर Mobile में या करना possible नहीं है क्योंकि Ram मोबाइल के motherboard में Inbuilt आती है जिसे आप change नहीं कर सकते। 

Qus. Ram कहां Located होती है? 

Ans. RAM Computer के motherboard में fit होती है जिसे आप change भी कर सकते हैं यह करने के लिए आपको कंप्यूटर को ऑफ करके change करना होगा वरना आपका Computer malfunction भी हो सकता है।  

Qus. RAM कौन से टाइप की memory है? 

Ans. Ram Primary Type की memory होती है जोकि data को Temporary Store करती है जोकि डाटा को Fast use करने में उपयोगी होती है। 

Conclusion  

मुझे उम्मीद है की आपको पता चलगया होगा की Ram kya hai? और RAM से Related सारे Questions का जबाब आपको मिलगया होगा अगर आपको इस article से related कुछ भी question हमसे पूछना है तो आप हमें Comments करके पूछ सकते है अगर आपको इस article से थोड़ा सा भी knowledge मिला हो तो आप इस Post को अपने Social media पर Instagram and WhatsApp पर share कर सकते है में मिलता हु आपसे Next Post में। 

READ ALSO

  

धन्यवाद 

SHARE IT

Leave a Comment